खोटे सिक्के जो चल गए..

खोटे सिक्के जो चल गए..    आज सुबह सुबह एक बहुत पुराने अजीज दोस्त रोबिन को फ़ोन किया उसके जन्मदिन की शुभकामना देने को| बहुत समय के बाद बात हुई उससे| पुष्पा मेरे अधिकतर दोस्तों को जानती है उनके नाम से, पर उसने रोबिन का नाम नहीं सुना था क्योकि मैंने कभी जिक्र ही ही नहीं किया| उसने जब पुछा की ये कौन थे, तो मुझे आश्चर्य हुआ की पता नहीं क्यों मैंने कभी जिक्र नहीं किया रोबिन का|

Read more