केजरीवाल हैं गुरु द्रोणाचार्य और मैं उनका एकलव्य – इरफ़ान

 

Kejriwal irfan meeting

 

हाल ही में एक्टर इरफ़ान खान  ने हिंदुस्तान के मुख्यमंत्री श्री अरविन्द केजरीवाल से ट्विटर पर मिलने का समय माँगा था जिसे स्वीकार करते हुए अरविन्द केजरीवाल ने उन्हें मिलने का समय दिया. किस्मत से मैं भी उसी दिन इरफ़ान से मिला और उनसे केजरीवाल जी से हुई मुलाकात के बारे में कुछ सवाल पूछे. पेश है सवाल और उनके जवाब आपके सामने –

नवीन: सुना आप अपनी फिल्म मदारी के प्रमोशन के सिलसिले में अरविन्द केजरीवाल से मिले थे?

इरफ़ान: नहीं भाई, पता नहीं कौन ऐसी ख़बरें उड़ाता है. मैं अपनी फिल्म ‘मदारी’ के प्रमोशन के लिए नहीं गया था. दरअसल 19 तारीख को ‘गुरु पूर्णिमा’ थी और केजरीवाल जी को जो मेरे गुरु हैं उनको इस मौके पर प्रणाम बोलने गया था.

नवीन: केजरीवाल जी और आपके गुरु? आपका उनका क्या लेना देना?

इरफ़ान: देखो लल्ला, जब बात केजरीवाल जी की होती है तो हम सब मेथड एक्टर्स अपने आप को ‘एकलव्य’ मानते हैं और श्री केजरीवाल को ‘गुरु द्रोणाचार्य’. हम लोग भले ही उनसे एक्टिंग सीखने क्लास में न गए हों पर उन्हें टीवी पर देख-देख कर दूर से ही एक्टिंग के गुर सीखते हैं.

नवीन: तो द्रोणाचार्य ने गुरु दक्षिणा में आपसे ‘अंगूठा’ माँगा या फिल्म की टिकट?

इरफ़ान: हाहाहा, नहीं भाई बहुत नेकदिल इन्सान हैं वो. जानते हैं अंगूठा ट्वीट करने के काम आता है, इसलिए उन्होंने सिर्फ फिल्म की टिकट अपने पूरे मंत्रिमंडल और उनके परिवार के लिए मांगी.

नवीन: यानि कि आपने ‘गुरु दक्षिणा’ में फिल्म की टिकटें अपने गुरु को दी हैं.

इरफ़ान: नहीं, टिकटें तो मैंने उन्हें फिल्म रिव्यु करने के लिए एडवांस के रूप में दिया है. ‘गुरु दक्षिणा’ के रूप में मैंने उन्हें Syska LED दिए हैं.

नवीन: Syska LED क्यों?

इरफ़ान: देखो भैया, अरविन्द जी का बिजली बिल लाखों में आता है और फिर भक्त उनको ट्रोल करते हैं. अपने गुरु को ट्रोल होते देखना बुरा लगता है. केजरीवाल जी की इसमें क्या गलती है कि बिल ज्यादा आया? अकेला आदमी क्या-क्या कर सकता है? गुरु जी फ़िल्में देखें, मोदी को कोसें या घर के 10 कमरों में घूम-घूम कर लाइट बंद करते रहें?

बस इसी समस्या के समाधान के लिए मैंने उन्हें “गुरु दक्षिणा” के रूप में Syska LED दिए हैं जिससे उनकी 70% बिजली की बचत हो सके.

नवीन: आपने नरेन्द्र मोदी से भी मिलने का समय माँगा है. क्या आप उन्हें भी गुरु मानते हैं?

इरफ़ान (कानों को हाथ लगाते हुए): एक्टिंग गुरु तो सिर्फ केजरीवाल जी हैं. रही बात मोदी जी की तो देखो भैया वो प्रधानमंत्री हैं और उन्होंने ‘दुनिया देखी’ है. मैं एक आम आदमी होने के नाते उनसे मिलकर कुछ सवाल पूछना चाहता था जो मेरी जिंदगी को भी बदल सके.

नवीन:  जैसे कि?

इरफ़ान: जैसे कि मुझे आजकल हॉलीवुड के काफी ऑफर आ रहे हैं जिसकी वजह से मुझे बाहर काफी घूमना पड़ रहा है. मैं नरेन्द्र मोदी जी से मिलके जानना चाहता था कि फ्रीक्वेंट फ्लायर स्कीम किसकी बेहतर है?

नवीन: ये दोनों तो ठीक है पर राहुल गाँधी से क्यों मिलना चाहते हैं, वो क्या सिखायेंगे?

इरफ़ान: लल्ला Pokemon Go का नाम सुने हो? राहुल बाबा मास्टर हैं मास्टर. तुम सिखा दो हमें ये गेम उनके लेवल का, नहीं जायेंगे मिलने.

नवीन: अगर मैं आपको Pokemon Go सिखा दूँ तो क्या आप सच में राहुल गाँधी से मिलने नहीं जायेंगे?

इरफ़ान (आँख मारते हुए): रे मोड़े, मेरे से कोई दुश्मनी है क्या? मैं दुनिया को एंटरटेन करता हूँ , कभी मुझे भी हो एंटरटेन हो लेने दो यार.

नवीन: अच्छा आखिरी सवाल…

इससे पहले मैं कि मैं सवाल पूछता, मेरी नींद खुल गयी. अगर आज दुबारा सपना आया तो बताऊंगा.

केजरीवाल हैं गुरु द्रोणाचार्य और मैं उनका एकलव्य – इरफ़ान

Post navigation


One thought on “केजरीवाल हैं गुरु द्रोणाचार्य और मैं उनका एकलव्य – इरफ़ान

  1. अच्छा लिखते हैं आप लेकिन थोडा आत्मावलोकन आप भी कीजिये और खुद से ही पूछिये कि हिंदुस्तान के मुख्यमंत्री सर जी ज्यादा बेहतर एक्टर हैं या फिर हर प्रान्त के मुख्यमंत्री उम्मीदवार साहब ।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *