अखिल भारतीय पियक्कड़ महासभा

चुनाव घोषणा पत्र

हिन्दू के लिए मंदिर बनायेंगे, मुस्लिम के लिए मस्जिद बनायेंगे, कच्ची बस्ती वालों को पक्के घर दिलाएंगे, सेक्युलर लोगों को चाय वाले से बचाएंगे, लोगों को पानी मुफ्त दिलाएंगे पर एक पियक्कड़ को क्या पिलाएंगे?

 सबसे ज्यादा सेक्युलर होती है शराब और इसे पीने वाले शराबी| पर  इनके लिए कोई भी प्लान नहीं कोई सहानुभूति नहीं| हमने इस वर्ग के उत्थान के लिए पार्टी बनाने की ठान ली है| अखिल भारतीय पियक्कड़ महासभा का मैं स्वघोषित अध्यक्ष अपनी पार्टी की घोषणा करता हूँ और इस पार्टी का नाम होगा – अखिल भारतीय पियक्कड़ पार्टी| हमारा चुनाव चिन्ह होगा जिगजैग चलती कार और उसमे बैठे दो पियक्कड़ और नारा होगा गाड़ी तेरा भाई चलाएगा|

अखिल भारतीय पियक्कड़ पार्टी की तरफ से मैं अपने पियक्कड़ बंधुओं से निम्न चुनावी वादे करना चाहता हूँ| और हमारे वादे वोडका की तरह पारदर्शी हैं| सभी शर्तें पहले ही बता दी जाएँगी, पुरानी सरकारों की तरह छुपी हुई शर्ते नहीं होंगी| उम्मीद है आप का समर्थन पार्टी को मिलेगा|

शराब के दाम में 50% कमी – हम शराब के दामों में 50% कमी कर देंगे| इस कमी से होने वाले राजस्व के नुकसान की भरपाई के लिए पानी के दाम 300% बढ़ा दिए जायेंगे|

बार अब 24 घंटे खुले रहेंगे|

हर शराबी को हर महीने 70 लीटर सोडा मुफ्त – एक शराबी यदि रोज 2 पेग 60 मि.ली. के पीता है और ग्लास 200 मिली का है तो वो महीने में 60 लीटर सोडा का उपयोग करेगा| हम उसे 70 लीटर सोडा देंगे और जो इससे ज्यादा पिएगा वो सोडा का पूरा पैसा भरेगा|

चखना – हर मोहल्ले में चखने की दुकाने खोली जाएँगी, जहां चखना उचित मूल्यों पर उचित मात्रा में मिलेगा| मसाला पापड़, नमकीन, पीनट मसाला आदि में से कोई भी एक आइटम बोतल दिखाने पर मुफ्त दी जाएगी| बाकी सामान का ग्राहक को पैसा देना होगा|

कच्ची बस्तियों में शराब की टंकियां: हर मोहल्ले में शराब की टंकी लगा दी जाएगी जिससे की हमारे कच्ची बस्ती के बंधू भी अंग्रेजी शराब का सेवन कर सकें और उन्हें ज्यादा दूर शराब के लिए नहीं जाना पड़े| हम मोहल्ले के लोगों को अधिकार देंगे की वो तय कर सकें कि किस मोहल्ले में कितनी टंकियां लगायी जाये और उनमें कितनी मात्रा में शराब की फिलिंग की जाये|

पुलिस सहानुभूति: अक्सर देखा गया है की पुलिस हमारे शराबी बंधुओं के साथ ढंग से पेश नहीं आती| पुलिस को ट्रेनिंग दी जाएगी की वो शराबियों के साथ सहानुभूति से पेश आये| और ज्यादा पिए होने की स्थिति में उन्हें घर तक छोड़ कर आये|

विशेष ड्राइविंग लेन: पियक्कड़ बंधुओं के लिए अलग ड्राइविंग लेन बनायीं जाएगी जिससे की हमारे बंधुओं को बिना शराब पिए सीधे सीधे गाड़ी चलाने वाले लोगों से तकलीफ न हो| इस लेन में प्रवेश जांच के बाद दिया जायेगा और सिर्फ उनको दिया जायेगा जिन्होंने कम से कम 90 मिली शराब पी रखी हो|

प्रत्याशी आप के बीच से: हम भाई भतीजावाद का विरोध करते है| हमारी पार्टी के प्रत्याशी आम पियक्कड़ों में से चुने जायेंगे| उन लोगों को प्राथमिकता दी जाएगी जिन्होंने शराब पीने के बाद कभी दंगा न किया या उल्टियां न की हो|

GPS वाली घडियां – सभी बंधुओं को दी जाएगी ताकि अगर कोई कहीं बेहोश होकर गिर जाये तो उसे उसके घर वाले ढूंढ सकें|

खुले नालों में सेफ्टी नेट लगाया जायेगा ताकि कोई गिरकर घायल न हो|

मेट्रो का आखिरी कोच पियक्कड़ बंधुओं के लिए आरक्षित रहेगा|

लिवर का मुफ्त इलाज: लास्ट बट नॉट द लीस्ट| सभी शराबी भाइयों के लिए सभी सरकारी या निजी अस्पतालों में लिवर का मुफ्त इलाज किया जायेगा|

तो इस बार मौका न चूकें और मोहर लगायें हमारे चुनाव चिन्ह बोतल पर| अखिल भारतीय पियक्कड़ पार्टी का सदस्य बनने के लिए पहले अखिल भारतीय पियक्कड़ महासभा को ज्वाइन करें और हमारा पेज लाइक करें ( www.facebook.com/drunkard )|

 

 

चुनाव घोषणा पत्र – अखिल भारतीय पियक्कड़ महासभा

Post navigation


12 thoughts on “चुनाव घोषणा पत्र – अखिल भारतीय पियक्कड़ महासभा

  1. अभापीमहा के मैनिफेसटों में हैप्पी आवर के सीमित अवधि को असीमित कर देने व ड्राई डे की आदिकाल की प्रथा के अवमूलन के लिए प्रावधान क्यों नहीं किया गया?

    अभापीमहा के टिकट पर चुनाव लड़ने के लिए पार्टी-फंड से कितने बोतलों का क्रेट मिलेगा हरेक प्रत्याशियों को उसका खुलासा नहीं किया गया है! एज ए भोटर हमें मालूम तो हो कि हमारे एक भोट के एवज मे पव्वा, अद्धा या खम्भा में से हमे का मिलेगा?

    इन बिंदुओं पर भी वोडका सी पारदर्शिता दिखाईए फिर हमहूँ भोट देगें आप, न..न.. का बोल गए, अभापीमहा पार्टी को!

  2. सर दाम ही ५०% हो गए है तो हैप्पी आवर असीमित है| ड्राई डे के मुद्दे को अगले चुनाव के लिए बचा रखा है| पार्टी फण्ड के लिए अभी हम घर घर से खली बोतल इकट्ठी कर रहे है, उसके बाद तय होगा की कितना क्रेट प्रत्याशियों को मिले

  3. हम शराबी शब्द को गैर जमानती बना देंगे| पियक्कड़ बंधू को सोमरस प्रेमी कहा जायेगा

  4. मैं शराब नहीं पचा पाने वाला हतभाग्य आपकी भावनाओं को गहराई से समझने का संकल्प लेता हुआ आपके साथ हूँ। झूम बराबर झूम शराबी! हक मांगने में क्या है खराबी?

  5. मैं तमाम सोमरस प्रेमियों को शराबी संबोधित करने का पाप करने के लिए दिल से माफ़ी चाहता हूँ। कृपया माफ़ करें ताकि मैं पश्चाताप की अग्नि में जलने से मुक्ति पा सकूँ।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *