संस्कारी लड़की – शराब, ड्रेस और देर रात

मेट्रो से उतरा तो स्टेशन के बाहर के खोमचे पर एक लड़की खड़ी कुछ खरीद रही थी. जितना कुछ फेसबुक से सीखा उससे समझ गया संस्कारी लड़की है क्योंकि उसने सलवार सूट पहना था. बहुत ही ज्यादा भारतीय थी क्योंकि

Read more

इसरो और अपना हिन्दुस्तानी GPS

इसरो और अपना हिन्दुस्तानी GPS   ख़बरें हैं हिंदुस्तान का अपना GPS होगा यानि कि अब तक रास्ता ढूँढने के लिए हम अमेरिकी उपग्रहों का सहारा लेते थे और अब हिंदुस्तान के अपने उपग्रह होंगे. अब तो इसरो ने 104

Read more

500 के नोट बंद, भिखारियों ने मांगी Z प्लस सिक्यूरिटी

Rs. 500 के नोट बंद, भिखारियों ने मांगी Z प्लस सिक्यूरिटी   मोदी सरकार के अचानक Rs. 500 और Rs. 1000 के नोट बंद कर देने से देश में खलबली मच गयी है. मोदी सरकार के इस फैसले के परिणाम

Read more

किताबें और इश्क़

किताबें और इश्क़   अक्तूबर के लिए इस  बार 3 किताबें लाये थे। 2 नयी ऑर एक थोड़ी पुरानी। तो हुज़ूर तो ये तीन किताबें थी इरम फातिमा की With You Forever, रवीश कुमार की इश्क़ मे शहर हो जाना

Read more

कड़ी निंदा महात्म्य

कड़ी निंदा महात्म्य   निंदा कई प्रकार की होती है जैसे कि चुगली, पर-निंदा, ईश-निंदा, परन्तु इन सबसे घातक है ‘कड़ी निंदा.’ पिछले कुछ सालों में ये एक ट्रेंडिंग विषय रहा हैं हालाँकि इसकी पहुँच अभी भी आम आदमी तक

Read more

मैं और कावेरी – Part 2

Click here to read first part to know how I reached to Mysore. http://www.naveenchoudhary.com/mylife/cauvery-issue/ ————————————————————————————————————————————— Part 2 सुबह उठा तो एयरफोर्स का ट्रक खड़ा था. पता चला कि डारमेट्री में सोयी 70% जनता इसी इंटरव्यू के लिए आई है. वही लड़का

Read more

मैं और कावेरी – Part 1

कहते हैं न कि ‘जहाँ पैर पड़े संतन के, वहीँ बंटा-धार”. मेरा और बैंगलोर का ऐसा ही रिश्ता है. जब भी यहाँ आया तब या तो शहर में कांड हुआ या मेरी लाइफ में. हाँ इन दोनों तरह के कांड

Read more

कैरोलिना मरीन “मिश्राइन” है

कैरोलिना मरीन “मिश्राइन” है. ब्राह्मण कास्ट…   सबसे पहले साक्षी मलिक जीती और उनके जीतते ही कुछ ‘बुद्धिमान जाटों’ ने बताना शुरू किया कि साक्षी ओलंपिक में देश को जिताने नहीं, बल्कि हरियाणा के ‘शांतिप्रिय आरक्षण आन्दोलन’ से हुई जाटों

Read more

पापा, ये सेक्स क्या होता है?

पापा, ये सेक्स क्या होता है?   सुबह बालकनी में जमीन पर बैठकर चाय पीते हुए अख़बार फैलाकर पढना मुझे बेहद पसंद है. कौन कोहनी आधी मोड़ के इतना बड़ा अख़बार पकड़े और जब चाय का कप उठा के सिप

Read more