कैरोलिना मरीन “मिश्राइन” है

कैरोलिना मरीन “मिश्राइन” है. ब्राह्मण कास्ट…   सबसे पहले साक्षी मलिक जीती और उनके जीतते ही कुछ ‘बुद्धिमान जाटों’ ने बताना शुरू किया कि साक्षी ओलंपिक में देश को जिताने नहीं, बल्कि हरियाणा के ‘शांतिप्रिय आरक्षण आन्दोलन’ से हुई जाटों

Read more

पापा, ये सेक्स क्या होता है?

पापा, ये सेक्स क्या होता है?   सुबह बालकनी में जमीन पर बैठकर चाय पीते हुए अख़बार फैलाकर पढना मुझे बेहद पसंद है. कौन कोहनी आधी मोड़ के इतना बड़ा अख़बार पकड़े और जब चाय का कप उठा के सिप

Read more

केजरीवाल हैं गुरु द्रोणाचार्य और मैं उनका एकलव्य – इरफ़ान

केजरीवाल हैं गुरु द्रोणाचार्य और मैं उनका एकलव्य – इरफ़ान     हाल ही में एक्टर इरफ़ान खान  ने हिंदुस्तान के मुख्यमंत्री श्री अरविन्द केजरीवाल से ट्विटर पर मिलने का समय माँगा था जिसे स्वीकार करते हुए अरविन्द केजरीवाल ने

Read more

Burhan Wani is not Kashmir Wani

हे बुद्धिजीवी, बुरहान वाणी इज नॉट कश्मीर वाणी   जानते हैं कश्मीर और शर्मा जी के लौंडे में क्या कॉमन है? दोनों से आपका कोई खास लेना-देना नहीं पर जब भी वहां कुछ होता है डिस्टर्बेंस आपके घर में भी

Read more

चिट्ठी टू ‘सो-कॉल्ड’ दलाल फ्रॉम अ भक्त

Letter to Akbar by Ravish Kumar & Reply by Bhakt     रवीश जी नमस्कार सबसे पहले तो बता दें कि कैप्शन से कंफ्यूज न होइएगा. न हम आपको ‘दलाल’ कह रहे हैं, न ही खुद को ‘भक्त’, फिर भी

Read more

Terrorism has no religion

Terrorism has no religion?   Terrorism has no religion. ये सुना सुना सा लग रहा है ना? हर दूसरे तीसरे महीने किसी आतंकी हमले के बाद यही ब्रह्म-वाक्य सुनने को मिलता है. जो उस हमले में मरता है न भैया,

Read more

उड़ता पंजाब से उड़ता तीर तक

उड़ता पंजाब तीर     पुराने समय की बात है. एक राजा था और उसे जानवरों से काफी लगाव था. एक दिन राजा को एक बन्दर दिखा और उसे उसकी कलाबाजियां इतनी पसंद आयी कि वो बंदर को महल ले आया

Read more

Sperm of Hippopotamus – Tanmay Bhatt

“तन्मय भट्ट को देख के लगता है कि वो नर हिप्पोपोटेमस और मादा मानव के संपर्क से पैदा हुआ है.” बुरा लगा? अरे जोक था… अच्छा दूसरा सुनो. “तन्मय के माँ-बाप पांच नहीं तो तीन हज़ार साल के तो होंगे

Read more

…अच्छा तो भ्रष्टाचार को ‘लोकतंत्र बचाओ’ कहते है!

…अच्छा तो भ्रष्टाचार को ‘लोकतंत्र बचाओ‘ कहते है!   अनिल सर बोले कि सोनिया सड़क पर मार्च कर रही हैं, कुछ लिखो इस मुद्दे पर. मैंने कहा जरूर, और जैसे ही मुद्दा समझने के लिए खबर को पढना शुरू किया

Read more

Twitter पुकारे आजा – Letter from a Troll

पढने वालों के लिए डिस्क्लेमर – अपने को ये ओपन लैटर टाइप चीजें पसंद नहीं आती, पर क्या है न कि मैं कोई लेखक पत्रकार तो हूँ नहीं इसलिए जब कोई मुद्दा किसी से रिलेटेड हो तो personalise करके लिखने

Read more